Dosti Shayari

ऐ खुदा अपनी अदालत में मेरी

ऐ खुदा अपनी अदालत में मेरी ज़मानत रखना;
मैं रहूँ ना रहूँ, मेरे दोस्तों को सलामत रखना !!

Leave a Reply

Your email address will not be published.