google-ad
google-ad
Sharabi Shayari

ये ही एक फर्क है तेरे और मेरे शहर की बारिश में

ये ही एक फर्क है तेरे और मेरे शहर की बारिश में तेरे यहाँ जाम लगता है मेरे यहाँ जाम लगते है

Read More
Sharabi Shayari

दुसरे देशों में लोग कह्ते है घर जाओ तुमने पि

दुसरे देशों में लोग कह्ते है घर जाओ तुमने पि रखी है हमारे देशों में कह्ते है अब घर मत जा तुमने पि रखी है

Read More
Sharabi Shayari

पीते थे शराब हम उसने छुडा दी अपनी कसम दे कर

पीते थे शराब हम उसने छुडा दी अपनी कसम दे कर महेफिल में गए थे हम यारों ने पिलादी उसीकी कसम दे कर

Read More
google-ad google-ad
Download Our App