Dosti Shayari Sharabi Shayari

मैं बैठूंगा जरूर महफ़िल में मगर

मैं बैठूंगा जरूर महफ़िल में मगर पियूँगा
नहीं क्योंकि मेरा गम मिटा दे
इतनी शराब की औकात नहीं

Leave a Reply

Your email address will not be published.