Dosti Shayari

जब दोस्त भी हों शामिल दुश्मन की चाल

जब दोस्त भी हों शामिल दुश्मन की चाल में,
तो शेर भी फंस जाते हैं मकड़ी के जाल में !

Leave a Reply

Your email address will not be published.